सावधान :प्यार के इजहार के साथ संक्रमण भी दे सकती है किंसिग…

0
912

न्यूज। किसी भी संबंध में चुंबन (किसिंग) का अलग-अलग महत्व होता है। आमतौर पर विदेशों में यह आम बात होती है
परर अब यहां पर भी संबंधों में अपने प्यार का इजहार करने के लिए किसिंग का चलन बढ़ता जा रहा है। कोविड-19 संक्रमण काल में भी किसिंग कोबहुत सावधानी पूर्वक करने के लिए कहा गया है। लेकिन संबंधों की अभिव्यक्ति के लिए किस करना सबसे अच्छा तरीका होता है। यह आपके आपसी रिश्ते को मजबूत बनाने के साथ भावनात्मक तौर पर भी जोड़ता है। हर व्यक्ति का किस करने का तरीका अलग होता है।

Advertisement

आजकल ज्यादातर लोग अपने पार्टनर से नए-नए प्रकार से किस करना चाहते हैं। कोई फ्रेंच किस करता है, तो कोई लिपलॉप या सिंपल लिप किस करना पसंद करता है। ज्यादातर लोगों को किस करने के अलग -अलग तरीकों की जानकारी होती है और इसका आनंद भी लेते हैं, लेकिन बहुत कम लोग जानते होंगे कि लापरवाही बरतने पर या पार्टनर की बीमारी की जानकारी ना होने पर किस करने से गंंभीर बीमारियां का संक्रमण भी हो सकता हैं। इसलिए किसिंग में सावधानी बरतनी चाहिए। आइए आपको बताते हैं कि चुंबन( किस) करने से कौन कौन सी संक्रामक बीमारियां हो सकती हैं।
संक्रमित व्यक्ति के माध्यम से इन्फ्लुएंजा का संक्रमण हो सकता है। यह दिक्कत तब होती है, जब कोई व्यक्ति बलगम या लार के संबंध में आता है. आमतौर पर खांसना, छीकना या किस करने के माध्यम से हो सकता है. इस बीमारी के लक्षण है मांसपेशियों में दर्द, सिरदर्द, गले में खराश और बुखार शामिल हैं।

आजकल लोगों को हर्पीस कि शिकायत हो जाती है। यह संक्रमण किसिंग के माध्यम से फैल सकता है। यह एक वायरल संक्रमण है ,जिसमें मुंह के आसपास निशान पड़ सकते है। अगर ऐसा है तो डॉक्टर से तुरंत परामर्श लेना चाहिए।

सिफलिस एक ऐसी बीमारी है जो शारीरिक संबंध बनाने पर होती है जैसे कि किस, सेक्सुअल संबंध आदि। सिफलिस में आपके मुंह में छोटे- छोटे अल्सर हो सकते है। इसकी रोकथाम के लिए एंटीबायोटिक की मदद से कंट्रोल किया जा सकता हैं।

विशेषज्ञों की मानें तो किस करने से मैनिंडाइटिस बैक्टीरिया फैल सकता हैं. इस बीमारी के लक्षण है गर्दन में ऐंठन, बुखार और सिरदर्द आदि होता है।
यही अगर आपके पार्टनर को मसूढ़ों और दांतों में समस्या है तो किस करने से आपको भी हो सकती है. किस करने से मुंह के बैक्टीरिया फैल जाते हैं जिससे पार्टनर को प्रॉब्लम हो सकती है।

Previous articleएक मार्च से खुले जाएंगे, कक्षा एक से पांच तक के स्‍कूल
Next articleडिप्टी सीएम ने भी नहीं सुना, संविदा कर्मियों का अनशन जारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here