स्टार्ट अप पालिसी के तहत लोहिया संस्थान में यह सेंटर बनाने की हरी झंडी

0
419

लखनऊ । डा. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान की बोर्ड आफ गवर्नर्स की 39वीं बैठक आयोजित की गयी। बैठक की अध्यक्षता मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र में हुई। मुख्य सचिव ने कहा कि संस्थान में उच्च स्तरीय क्लीनिकल ट्रायल तथा मेडिकल रिसर्च को बढ़ावा देने के लिये संसाधनों में वृद्धि का हर संभव प्रयास किया जाये। बैठक में आवश्यक इन्टर्नशिप की अवधि के दौरान छात्रों को स्टाइपेण्ड के भुगतान पर अनुमोदन के अलावा प्रो. प्रद्युम्न सिंह को डीन बनने पर मुहर लग गयी।

Advertisement

बैठक में प्रदेश सरकार की स्टार्ट अप पालिसी के अन्तर्गत संस्थान में इनोवेशन एवं इनक्युबेशन केन्द्र की स्थापना तथा इसे कंपनीज अधिनियम-2013 के सेक्शन-8 के अन्तर्गत एक कंपनी के रूप में पंजीकृत करने पर बोर्ड द्वारा अनुमोदन प्रदान किया गया।

संस्थान में क्रय प्रक्रिया में तेजी लाने के उद्देश्य से 50.00 लाख रुपये एवं उससे अधिक के उपकरणों के क्रय के लिए उच्च स्तरीय क्रय समिति (हाई लेवल परर्चेज कमेटी), जिसके अध्यक्ष प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा एवं वित्त विभाग के प्रतिनिधि सदस्य के रूप में नामित हैं, द्वारा अनुमोदन प्रदान करने के उपरान्त निदेशक संस्थान द्वारा क्रयादेश जारी किये जाने पर अनुमोदन प्रदान किया गया । इसके साथ ही यह भी निर्देश दिये गये कि ऐसे अनुमोदित उपकरणों की सूची आगामी बोर्ड आफ गवर्नर्स की बैठक में प्रस्तुत की जाये।

बोर्ड द्वारा संस्थान के स्नातक पाठ्यक्रमों (एमबीबीएस), स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों (एमडी, एमएस, डीएनबी, डीएम एवं एमसीएच) एवं पैरामेडिकल पाठ्यक्रमों (बीएससी नर्सिंग) के लिए नियमावली पर अनुमोदन प्रदान किया गया। संस्थान के इन पाठ्यक्रमों के लिए जाने वाले शुल्क तथा उक्त पाठ्यक्रमों में आवश्यक इन्टर्नशिप की अवधि के दौरान छात्रों को स्टाइपेण्ड के भुगतान पर भी अनुमोदन प्रदान किया गया।
इसके अतिरिक्त बोर्ड द्वारा कॉलेज ऑफ नर्सिंग में अत्याधुनिक स्किल लैब स्थापित किये जाने पर अनुमोदन प्रदान किया गया तथा स्किल लैब हेतु एनएचएम के माध्यम से ग्राण्ट प्राप्त करने के निर्देश दिये गये। संस्थान के नये संकायाध्यक्ष (डीन) के रूप में प्रो. प्रद्युम्न सिंह की नियुक्ति पर भी बैठक में अनुमोदन प्रदान किया गया।

बैठक में प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा आलोक कुमार, डॉ राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान की निदेशक प्रो. सोनिया नित्यानंद, महानिदेशक स्वास्थ्य डॉ. दीपा त्यागी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण आदि उपस्थित थे।

Previous articlePM मोदी के जन्म दिन पर दिव्यांगो ने प्रेषित किया 1.25 कि.मी. लम्बा विशालतम बधाई पत्र
Next articleसांस के रोगी रखें अपनी हड्डियों का भी ध्यान. : डा. सूर्यकान्त

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here