नीट की प्रवेश परीक्षा में लिखने के लिए मिलेगा खास तरह का पेन

0
1086

लखनऊ । 7 मई को होने वाली  नीट  की प्रवेश परीक्षा में  नियम  बहुत सख्त बनाए गए हैं । इन नियमों में सबसे ज्यादा लड़कियों को ध्यान देने की ज़रूरत है। अगर साड़ी पहनकर परीक्षा देने जा रही हैं तो आपको इम्तिहान में बैठने नहीं दिया जाएगा।

Advertisement

इसके अलावा मेहंदी लगे हाथ, ताबीज, ब्रेसलेट मेडिकल दाखिलों की कॉमन प्रवेश परीक्षा नेशनल एलिजिबिलिटी काम एंट्रेंस टेस्ट(नीट) में इस साल ड्रेस कॉड के अलावा सख्त नियम लागू किये गए हैं। सात मई को देश भर में मेडिकल की परीक्षा है। इस परीक्षा में कोई भी कैंडिडेट न तो साड़ी पहन सकती है न ही हाथों में मेहंदी लगा सकती है।सीबीएसई ने नीट परीक्षा के लिए इस बार विशेष प्रकार का पेन तैयार किया है। यह पेन परीक्षा केंद्र में प्रवेश करने के बाद मिलेगा। बोर्ड अधिकारीयों के मुताबिक़ यह पेन केवल नीट इम्तिहान के लिए तैयार किया गया है।  यह  पेन बाज़ार से नहीं मिलेगा।

यह भी ले जाने व पहने पर है रोक :

इसके अलावा इसे पहन कर भी परीक्षा में बैठने नहीं दिया जाएगा

  • कृपाण
  • बुर्का
  • ताबीज
  • ब्रेसलेट

बैठक में लिया गया फैसला :

सीबीएसई ने नीट के इम्तिहान के मद्देनज़र दिल्ली में बैठक बुलाई। इस बैठक में ड्रेस कोड के लिए नियम तय किये गए। जो भी जारी किये गए ड्रेस कोड का पालन नहीं करेगा उसको प्रवेश करने नहीं दिया जाएगा। इतना ही नहीं कैंडिडेट्स की एंट्री भी परीक्षा केंद्रों पर दो स्लॉट में होगी। अभ्यर्थियों के एडमिट कार्ड पर उनका एंट्री टाइम लिखा गया है। मेटल डिटेक्टर के अलावा देशभर में 100 से ज्यादा संवेदनशील परीक्षा केंद्रों पर जैमर लगाए जा रहे हैं। ताकि किसी भी प्रकार से मोबाइल या इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस का प्रयोग ना किया जा सके।

यह वस्तुएं भी रहेंगी बैन रहेंगी :

सीबीएसई की परीक्षा से जुड़े अधिकारी का कहना है कि पर्स, एटीएम कार्ड, लॉकेट , जुटे, फूल स्लीव्स की शर्ट या टीशर्ट, घडी, सन ग्लास, हेयर क्लिप, रबर बैंड, चूड़ी आधी कुछ भी लेकर परीक्षा हॉल में किसी भी हालत में प्रवेश नहीं मिलेगी।
यह पहन सकते हैं परीक्षा के दौरान

  1. हवाई चप्पल
  2. सैंडल
  3. हाल्फ टी शर्ट
  4. सलवार
  5. ट्राउज़र
  6. लैगिंग्स
  7. प्लाज़ो
  8. हाफ स्लीव्स कुर्ती
  9. टॉप
  10. मंगलसूत्र
  11. ढीले ढाले कपडे पहनने की छूट
Previous articleजिंक युक्त खाद्य पदार्थ से घटाएं मौत का खतरा
Next articleआईएमए बनवाएगा स्कूलों में टायलेट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here