युवा वर्ग को होना होगा जागरूक…

0
69

लखनऊ । विश्व जनसंख्या दिवस पर आज राजधानी में विभिन्न संस्थानों में कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। गोमती नगर के डा. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में अयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में महिला एवं परिवार कल्याण विभाग मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि युवा वर्ग परिवार नियोजन के लिए जागरूक हो रहा है। उन्हें सही जानकारी दिये जाने की आवश्यकता है। यह कार्यक्रम डॉ प्रियंका यादव द्वारा संचालित संस्था माँ अमृतेस्वरी चैरिटी संस्थान ने आयोजित किया गया था। । इसके अलावा कार्यक्रम में डॉ राम मनोहर लोहिया संस्थान, आकांक्षा मसाला मठरी केन्द्र ने भी सहयोग दिया। इस अवसर पर आयोजित परिचर्चा का विषय बढ़ती जनसँख्या की चुनौतिया तथा परिवार नियोजन का महत्व होता है, का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में राज्य सभा सांसद डॉ अशोक बाजपाई और लोहिया संस्थान के निदेशक डॉ दीपक मालवीय सहित अन्य वरिष्ठ डाक्टर भी मौजूद थे।

परिचर्चा में पुरुषों में नसबंदी पर केजीएमयू के यूरोलॉजी विभाग के प्रमुख डा. एस एन शंखवार जानकारी दी। इस दौरान परिवार नियोजन जागरूकता अभियान रैली को ध्वज लहरा कर लोहिया संस्थान से रवाना किया। रिवर बैंक कॉलोनी स्थित आईएमए भवन में विश्व जनसंख्या दिवस पर आयोजित संगोष्टी में आईएमए लखनऊ के अध्यक्ष डॉ. सूर्यकांत ने बताया की 11 जुलाई 1987 को विश्व की जनसंख्या 5 अरब हो गयी थी और इसी दिन 11 जुलाई 1987 को ष्विश्व जनसंख्या दिवस घोषित किया गया। डा. सूर्यकांत ने कहा की भारत देश की जनसंख्या इस समय 134 करोड़ के करीब पहुँच चुकी है । संगोष्ठी में केजीएम्यू के स्त्री एवं प्रसूती रोग विभाग में प्रोफेसर डॉ.सुजाता देव ने कहा की किशोरावस्था के दौरान ही सभी लड़कों और लड़कियों को जनसंख्या नियंत्रण के बारे में जानकारी देना चाहिए और पढ़ाना चाहिए जिससे आने वाली ज़िन्दगी में वो अपनी इस जानकारी का सही प्रयोग कर पाएं  स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. मंजू शुक्ल ने कहा की ज़मीनी स्तर पर जनसंख्या नियंत्रण के लिए जागरूकता अभियान एवं कार्यक्रम आयोजित करने की आवश्यकता है तभी अच्छे परिणाम मिल सकेंगे।

स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ. चन्द्रावती ने कहा कि बच्चों के जन्म होने पर मिलने वाले सरकारी सहयोग राशी के निर्धारित मानकों को निर्धारित कर देना चाहिए ताकि परिवार नियोजन को बढ़ावा मिल सके। कार्यक्रम में मौजूद डीजी हेल्थ डॉ. सविता भट्ट ने कहा की निजी संस्थानों की भागीदारी के साथ सरकार परिवार नियोजन एवं जनसंख्या प्रबंधन में कई कार्यक्रम आयोजित करेगी। कार्यक्रम में डॉ हेम प्रभा गुप्ता ने कहा की अधिक से अधिक मात्रा में सभी विभागों के चिकित्सकों द्वारा परिवार नियोजन हेतु शिक्षा कार्यक्रम आयोजित किये जाने चाहिए और परिवार नियोजन की अकेले जिम्मेदारी केवल स्त्री रोग विशेषज्ञों की नहीं होना चाहिए ।

कार्यक्रम में आईएमए लखनऊ की पूर्व अध्यक्ष डॉ. पीके गुप्ता द्वारा बच्चे कम पेड़ ज्यादा का नारा दिया गया।

अब PayTM के जरिए भी द एम्पल न्यूज़ की मदद कर सकते हैं. मोबाइल नंबर 9140014727 पर पेटीएम करें.
द एम्पल न्यूज़ डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000 > Rs 10000.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here