यहां निर्माण कार्य पूरा न होने पर चेतावनी

0
48

लखनऊ। प्रदेश के प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा डा. रजनीश दुबे ने विभागीय अधिकारियों को एसजीपीजीआई लखनऊ तथा केजीएमयू में निर्माणाधीन अवशेष कार्यों को इसी माह शीघ्र पूरा कराकर लोकार्पण की तिथि निर्धारित करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि इन दोनों संस्थानों में निर्माणाधीन परियोजनाओं के समस्त कार्य गुणवत्तापरक एवं मानक अनुरूप सुनिश्चित किया जाना चाहिए।

प्रमुख सचिव ने आज चिकित्सा विश्वविद्यालयों, स्वायत्तशासी संस्थानों तथा राजकीय मेडिकल कालेजों के निर्माण कार्यों की समीक्षा राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान के सभागार में कर रहे थे। उन्होंने समीक्षा के दौरान निर्माण कार्यों की धीमी प्रगति पर अप्रसंन्नता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि डा. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान गोमतीनगर विस्तार स्थित नवीन कैम्पस में आवासीय भवनों तथा छात्रावास के निर्माण के लिए अपेक्षित धनराशि अवमुक्त किये जाने एवं पूर्व बैठकों में तेजी से कार्य पूरा करने के लिए दिये गये निर्देशों के बावजूद भी कार्य में तेजी नहीं लाई गई। उन्होंने इसमें तत्काल सुधार करने के भी निर्देश दिये।

समीक्षा के दौरान प्रमुख सचिव को निर्माण एजेन्सियों ने अवगत कराया कि एसजीपीजीआई में विवाहित नर्सों के लिए 100 फ्लैट तथा टाइप-4 के 40 आवासों का निर्माण कार्य इसी माह में पूर्ण कर लिया जायेगा। इससे पीजीआई में कार्यरत मैरिड नर्सों,वरिष्ठ चिकित्सा शिक्षकों को कैम्पस में ही आवास की सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। पुराने ओपीडी भवन के स्थान पर 134 बेड्स के वार्ड के निर्माण का कार्य पूर्ण कर लिया गया है, इससे पीजीआई में 134 बेड्स की वृद्धि होगी तथा अधिक मरीजों को भर्ती कर उन्हें सुपर स्पेशियलिटी चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करायी जा सकेगी। इसके अतिरिक्त पानी की समस्या के निदान हेतु कैम्पस में ही ट्यूबेल का निर्माण कार्य भी पूर्ण कर लिया गया है। पीजीआई के इन कार्यों की कुल लागत 64.50 करोड़ रुपये है।

प्रमुख सचिव ने किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय लखनऊ में कार्डियोलॉजी विभाग के भवन का विस्तार एवं मल्टीलेबिल पार्किंग, आरएएलसी में टाइप-1 के 36 स्टाफ क्वार्टर्स तथा आम्रपाली योजना हरदोई रोड में शिक्षकों एवं कर्मचारियों के आवास का निर्माण कार्य इसी माह पूर्ण किये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि इस कार्य के पूर्ण हो जाने से कार्मिकों को कार्यस्थल के निकट ही आवास की सुविधा हो सकेगी। इन समस्त परियोजनाओं की लागत 107.90 करोड़ रुपये है।

निर्माण एजेन्सियों ने प्रमुख सचिव को अवगत कराया कि कार्डियोलॉजी विभाग के ब्लाक का निर्माण होने से लगभग-96 (आईसीयू एवं जनरल) बेड्स की क्षमता का विस्तार होगा, जिससे मरीजों को हृदय रोग से संबंधित उपचार की सुविधाएं सुगमता से उपलब्ध हो सकेंगी। क्वीन मेरी परिसर में मातृत्व एवं शिशु स्वास्थ्य से संबंधित 100 बेड्स के एमसीएच विंग से संबंधित 2 टावर का निर्माण कार्य इसी माह पूर्ण कर लिया जायेगा। केजीएमयू के विभिन्न विभागों के भवनों पर सौर ऊर्जा का उपयोग सुनिश्चित किये जाने हेतु सौर ऊर्जा संयंत्रों की स्थापना का कार्य भी इसी माह पूर्ण कर लिये जायेंगे।

अब PayTM के जरिए भी द एम्पल न्यूज़ की मदद कर सकते हैं. मोबाइल नंबर 9140014727 पर पेटीएम करें.
द एम्पल न्यूज़ डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000 > Rs 10000.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here