यहां डॉक्टरों की हड़ताल, मरीज बेहाल

0
69
Photo Credit:Brighter Kashmir

डेस्क। राजस्थान के बाद अब जम्मू कश्मीर की राजधानी श्रीनगर के सौरा स्थित एस के इंस्टीट््यूट ऑफ मेडिकल साइंस (एसकेआईएमएस) के रेजीडेंट डॉक्टरों की हड़ताल लगातार जारी हंै। बृहसपतिवार को तीसरे दिन भी हड़ताल जारी रहने से मरीजों का हाल बेहाल है। रेजीडेंट डॉक्टर इंस्टीट््यूट के निदेशक की पुनर्नियुक्ति की मांग को लेकर हड़ताल कर रखा हैं।

हड़ताल से एसकेआईएमएस के मरीजों का हाल बेहाल है। मरीजों को डॉक्टरों की अनुपस्थिति के कारण परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। रेजीडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन (आरडब्ल्युए) और नॉन गजेटिड इंप्लोइज वेलफेयर एसोसिएशन (एनजीईडब्ल्युए) के प्रवक्ता के अनुसार आरडब्ल्युए और एनजीईडब्ल्युए के प्रतिनिधियों ने आज सुबह एसकेआईएमएस में बैठक कर सर्वसम्मति से हड़ताल को लगातार तीसरे दिन भी जारी रखने का निर्णय लिया। उनका दावा है कि आपातकालीन और आईसीयू सेवाएं अभी तक निर्बाध रूप से जारी है। प्रवक्ता ने कहा अगर संस्थान के निदेशक को सम्मान सहित पुनर्नियुक्त नहीं किया गया तो आपातकालीन सेवाओं को रोककर एनजीईडब्ल्युए अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चली जाएगी।

कश्मीर विधानसभा में विपक्षी दलों नेशनल कांफ्रेंस और कांग्रेस ने सरकार द्वारा एसकेआईएमएस के निदेशक डॉ. एजी अहंगार को हटाने का कारण बताने और अस्पताल के डॉक्टरों की हड़ताल खत्म करवाने की असफलता को लेकर प्रश्नकाल के दौरान सदन से वॉकआउट किया था। सरकार ने बीते शनिवार डॉ. अहंगार का स्थानांतरण सामान्य प्रशासनिक विभाग (जीएडी) और तीन अन्य वरिष्ठ शिक्षक सदस्यों के निलंबन के आदेश दिया था। निलंबित तीनों डॉक्टरों को एक सिं्टग ऑपरेशन में निजी कामकाज करते हुए पाया गया था। सरकार ने डॉक्टरों के प्राइवेट प्रेक्टिस पर प्रतिबंध लगाया हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here