यह है इश्कः दूल्हा 90, दुल्हन 45 की

0
68

लखनऊ – कहा जाता है इश्क की कोई उम्र नहीं होती , अंधा होता है कभी भी किसी भी उम्र में कमबख्त हो जाता है …. इश्क का जुनून किस हद तक चढ़ता है इसका एक वाकिया लखनऊ में आजकल चर्चा का विषय बना हुआ है। दूल्हे की उम्र 90 की हैं जिनके परपोते-पोती हैं आैर भरा पुरा परिवार भी है। “वेलेन्टाइन वीक” में अपने इश्क की खिचड़ी पकाने के लिए दूल्हे मियां ने घर वालों के बागी हो गये। अपने से आधी उम्र की महिला से विवाह रचा लिया। बात कर रहे है

आलमबाग के सुजानपुरा मोहल्ले के रहने वाले दूल्हा मियां का नाम अब्दुल हक की, जो वर्ष 1990 में रेलवे से रिटायर हुए थे। तब उनकी उम्र 60 वर्ष पार कर चुकी थी। अब उनको 25 हजार रुपये पेन्शन मिलती है। मोहल्ले में दादा के नाम से मशहूर अब्दुल हक की पहली बीवी करीब 20 साल पहले वर्ष 2003-04 में अल्लाह को प्यारी हो गयीं थीं। उनके निधन को साल भी नहीं बीती था कि अब्दुल हक दूसरी शादी की ठान ली। बेटे-बेटियों, बहुओं आैर नाती-पोतो के विरोध के बाद आखिर अब्दुल हक ने वर्ष 2011-12 में दूसरी शादी कर ली।

दोनों पति-पत्नी करीब 4 साल साथ रहे। अब्दुल हक चाहते थे कि दूसरी बीवी से भी कोई बच्चा हो, लेकिन तकदीर का लिखा कौन टाल सकता है। वर्ष 2016 में दूसरी बीवी भी अल्लाह को प्यारी हो गयी। सुजानपुरा के रहने वाले बताते हैं कि दूसरी बीवी को सुपुर्द-ए-खाक करके लौटे अब्दुल हक दादा ने घर जाकर हाथ भी नहीं धोये थे कि मिट्टी में आये रिश्तेदारों व मोहल्ले वालों को तीसरी शादी का ख्वाहिश बतायी, तो सबके होश फाख्ता हो गए।

तब से अब्दुल हक तीसरी शादी के लिए घर में घमासान मचाये थे। हालांकि उनके बेटे-बहुएं आैर नाती-पोते सभी उनको उनको बहुत चाहते हैं, लेकिन अब्दुल हक को तो जैसे शादी का जुनून सवार था। तीसरी शादी के लिए अब्दुल हक ने अपने घर वालों से बगावत कर दी आैर सुजानपुरा मोहल्ले में ही एक मकान की तीसरी मंजिल पर मकान ले लिया। तीसरी मंजिल पर किराये का मकान लेने के पीछे अब्दुल हक का मकसद था कि मोहल्ले के मनचले लड़के उनके घर न आ-जा सकें।

दो महीने पहले वह नया सूट पहनकर अपने कुछ दोस्तों व मोहल्ले के लोगों की बारात लेकर लालकुंआ जा रहे थे, तभी इसकी भनक परिवारवालों का लग गयी। इस वजह से उस दिन अब्दुल हक की शादी नहीं हो सकी थी। इसके बाद अब्दुल हक ने इसकी काट निकाली वह ससुर वालों को लेकर पिछले महीने अपने रिश्तेदार के यहां इलाहाबाद चले गये आैर वहां निकाह कर शादी कर ली। शादी करने के बाद भी अब्दुल हक खामोश नहीं बैठे। उन्होंने यहां सुजानपुरा में अपने किराये के मकान के निकट भव्य दावते वलीमा किया। इस दावत में मोहल्ले के चुनिन्दा लोग व रिश्तेदार थे। सभी ने अब्दुल हक को तीसरी शादी की मुबारकबाद दी। यही नहीं तमाम लोगों ने अब्दुल हक आैर उनकी बीवी की गोद भरने की भी दुआ दी।

अब PayTM के जरिए भी द एम्पल न्यूज़ की मदद कर सकते हैं. मोबाइल नंबर 9140014727 पर पेटीएम करें.
द एम्पल न्यूज़ डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000 > Rs 10000.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here