टॉप 20 सर्वाधिक प्रदूषित शहरों में कानपुर, लखनऊ भी

0
77

डेस्क। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) से जारी रिपोर्ट के अनुसार विश्व के सबसे ज्यादा 20 प्रदूषित शहरों में से शीर्ष 14 शहर भारत में बसते हैं, जिसमें दिल्ली, कानपुर और वाराणसी के अलावा राजधानी लखनऊ भी शामिल हैं। विशेषज्ञ डाक्टरों का मानना है कि अगर प्रदूषण कम नहीं हुआ, तो अस्थमा के अलावा श्वसन सम्बधी बीमारियां आैर बढ़ सकती है।
डब्ल्यूएचओ की बुधवार को जारी रिपोर्ट के अनुसार पी एम-2.5 स्तर के हिसाब से वर्ष 2016 में विश्व के 20 सर्वाधिक प्रदूषित शहरों में कानपुर पहले स्थान पर था। इसके बाद फरीदाबाद, वाराणसी, गया, पटना, दिल्ली, लखनऊ, आगरा, मुज्जफ्फरपुर, श्रीनगर, गुरुग्राम, जयपुर, पटियाला तथा जोधपुर का स्थान है।

रिपोर्ट के अनुसार पी एम-10 स्तर के हिसाब से दुनिया के सर्वाधिक प्रदूषित शहरों में भारत के 13 शहर शामिल हैं। इन प्रदूषित शहरों की सूची में भारत के कुछ शहर हटें हैं तो कुछ नए शहर शामिल हुए हैं। कानपुर का औसत पी एम-2.5 स्तर 173 है जोकि डब्ल्यूएचओ के निर्धारित मानक स्तर से 17 गुना अधिक है। यह सबसे ज्यादा प्रदूषण हो सकता है। फरीदाबाद में पी एम-2.5 का स्तर 172, वाराणसी में 151 है और दिल्ली में पी एम-2.5 का स्तर 143 है। इसके अलावा लखनऊ भी पीएम का स्तर मानक के अनुसार नहीं है आैर प्रदूषण के दायरे में आता है।

रिपोर्ट के अनुसार दुनिया में प्रत्येक 10 में से नौ व्यक्ति प्रदूषित हवा में सांस ले रहे हैं। घर के भीतर और बाहर के वायु प्रदूषण के कारण होने वाली बीमारियों से दुनिया भर में प्रति वर्ष 70 लाख लोगों की मौत हो जाती है। रिपोर्ट में भारत सरकार द्वारा गरीब परिवारों को स्वच्छ रसोई ईंधन उपलब्ध कराने के लिए शुरू की गयी प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का विशेष रूप से उल्लेख करते हुए कहा गया है कि इसके तहत सिर्फ दो वर्षों में करीब तीन करोड़ 70 लाख गरीब महिलाओं को मुफ्त एलपीजी कनेक्शन उपलब्ध कराएं गए हैं ताकि घरों के भीतर वायु प्रदूषण कम किया जा सके।

अब PayTM के जरिए भी द एम्पल न्यूज़ की मदद कर सकते हैं. मोबाइल नंबर 9140014727 पर पेटीएम करें.
द एम्पल न्यूज़ डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000 > Rs 10000.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here