शीशे की धार ने गर्दन में किये गहरे घाव, जटिल सर्जरी कर बचा ली जान 

0
124

लखनऊ। एक्यूरियम के शीशे से गर्दन में गहरा घाव हो जाने पर जिंदगी आैर मौत की जंग लड़ रहे 25 वर्षीय युवक की जान किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के ट्रामा सर्जरी विभाग के प्रमुख डा. संदीप तिवारी आैर उनकी टीम ने गले की छोटी -बड़ी धमनियों व श्वसन नली की जटिल सर्जरी करके बचायी। करीब चार घंटे तक जटिल सर्जरी करने के बाद मरीज को क्रिटकल केयर यूनिट में भर्ती कराया गया है।

अधिक ब्लडिग होने के कारण मरीज को छह यूनिट ब्लड को चढ़ाना पड़ा। विभाग प्रमुख डा. संदीप तिवारी ने बताया कि एकेटीयू के रजिस्ट्रार के बेटे देवतोष सिंह की अचानक एक्यूरियम गिरने से उसके जबड़े के नीचे गर्दन पर शीशे से गहरा घाव कर दिये। इसके कारण तेजी से ब्लडिंग हो रही थी। ज्यादा ब्लड गिरने व डरकर वह शॉक में चला गया।

परिजन 14 तारीख की सुबह नौ बजे जब ट्रामा सेंटर लेकर आये तब डाक्टरोंं ने जांच में देखा तो गर्दन में शीशे ने श्वसन नली काटने के अलावा रक्त की कई धमनियों को काट दिया था। इस कारण उसकी तेजी से हालत बिगड़ती जा रही थी। इस लिए तत्काल टीम को तैयार कर सर्जरी करने का निर्णय लिया। सर्जरी में उनके साथ डा.यादवेंद्र, डा. अभिषेक मौजूद थे। इसके अलावा सर्जरी में प्लास्टिक सर्जरी के डा. निखिल की भी मदद ली गयी।

लगभग दो घंटे तक चली सर्जरी में श्वसन प्रक्रिया को चालू रखने के लिए सांस नली में सीटी लगायी गयी। रक्त धमनियों को रिपेयर करने के बाद मरीज को क्रिटकल केयर यूनिट में शिफ्ट कर दिया गया। किंतु तीन बजे मरीज को दोबारा ब्लडिंग होने लगी। दोबारा आपरेशन में ले गये आैर दोबारा सर्जरी करनी पड़ी। फिर यह सर्जरी दो घंटे तक चली आैर कुछ आैर रक्तवाहिकाओं को जोड़ा गया। इस दौरान तेजी से हो ब्लड लॉस के कारण मरीज को लगभग छह यूनिट ब्लड चढ़ाया गया।

डा. तिवारी ने बताया कि मरीज के गले में चार इंच से ज्यादा लम्बा आैर एक इंच से ज्यादा गहरा कट लगा था, जिसके कारण ब्लडिंग तो हो ही रही थी, साथ ही श्वसन नली कटने से सांस भी उखड़ने लगी थी।  उसकी हालत गंभीर है, परन्तु स्थिर बनी हुई है।

अब PayTM के जरिए भी द एम्पल न्यूज़ की मदद कर सकते हैं. मोबाइल नंबर 9140014727 पर पेटीएम करें.
द एम्पल न्यूज़ डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000 > Rs 10000.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here