बिना इसके चल रहा था सेक्स क्लीनिक, लग गया यह

0
142

लखनऊ। सीएमओ की टीम ने सोमवार को राजधानी में दो बड़े सेक्सोलाजिस्ट डाक्टरों की क्लीनिक पर छापा मार दिया। इससे पहले इनमें एक सेक्सोलॉजिस्ट के यहां दवाओं को लेकर छापा मारा गया था। इनके यहां दवाओं की जांच चल रही है। सोमवार को एसके जैन के बर्लिंग्टन चौराहा स्थित क्लीनिक और चारबाग स्थित डाक्टर एके जैन क्लीनिक पर छापेमारी की। इस दौरान क्लीनिक में मरीज व कर्मचारी भाग गए। सीएमओ टीम को पंजीकरण नहीं दिखा पाने पर टीम ने डाक्टर के खिलाफ नोटिस जारी कर क्लीनिक में ताला लटका दिया। सीएमओ टीम के मुताबिक करीब दस साल से दोनों क्लीनिक बिना पंजीकरण के चली थीं।

प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के जन सुनवाई पोर्टल पर मिली शिकायत पर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. नरेन्द्र अग्रवाल ने संज्ञान लिया आैर एसीएमओ डाक्टर सुनील कुमार रावत, डाक्टर संजय कुमार और डाक्टर अनूप श्रीवास्तव के नेतृत्व में जांच टीम गठित की। सोमवार दोपहर करीब एक बजे बर्लिंग्टन चौराहे पर स्थित सेक्सोलॉजिस्ट डाक्टर एसके जैन क्लीनिक पर छापेमारी की। क्लीनिक में मरीज व कर्मचारी भाग खड़े हुए। क्लीनिक के प्रबंधक गोपाल ने पंजीकरण संबंधी कोई दस्तावेज टीम को नहीं दिखा पाए। एसीएमओ अनूप श्रीवास्तव ने तीन घंटे के भीतर क्लीनिक का पंजीकरण और सेक्सोलॉजिस्ट की डिग्री दिखाने का समय दिया। उसके बाद टीम चारबाग स्थित डाक्टर एके जैन क्लीनिक पर छापेमारी करने पहुंची, जहां गार्ड ने टीम को भीतर जाने से रोक दिया।

अधिकारियों को अपना परिचय पत्र दिखाने के बाद गार्ड ने अंदर जाने दिया। क्लीनिक में करीब दस मरीज मिले। जिन्हे कर्मचारियों ने भगा दिया। क्लीनिक में डा. एके जैन के बेटे संकल्प ने डाक्टर न होने की बात बतायी। एसीएमओ ने सुनील कुमार रावत ने बताया कि डाक्टर की डिग्री और क्लीनिक का पंजीकरण मांगा, जो नहीं दिखा पाए। इस क्लीनिक में डिग्री वहीन लोग मरीजों का इलाज कर उनके जीवन से खिलवाड़ करने के आरोप लगाया गया। टीम ने डाक्टर एके जैन के खिलाफ नोटिस जारी क्लीनिक में ताला लगा दिया। सीएमओ टीम ने शाम तक सेक्सोलॉजिस्ट व क्लीनिक का पंजीकरण दिखाने का समय दिया। उन्होंने कहा कि अगर समय पर दस्तावेज नहीं दिखाए जाएंगे तो मंगलवार को डॉक्टर के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

बर्लिंग्टन चौराहे पर स्थित एसके जैन क्लीनिक पर दोबारा करीब तीन बजे पहुंची, तो स्वास्थ्य विभाग की टीम से अभद्रता की गयी आैर दस मिनट तक टीम क्लीनिक के बाहर खड़ी रही। इसके बावजूद डाक्टर एसके जैन ने कमरे से नहीं आए। डा. जैन ने अधिकारियों को कमरे के अंदर आने को कहा। अधिकारियों के साथ मीडियाकर्मी भी कमरे के अंदर गए, जहां सीएमओ टीम और मीडिया के साथ डा. जैन और उनके कर्मचारियों ने धक्कामुक्की की। इस हरकत पर एसीएमओ डाक्टर संजय कुमार ने डा. जैन को जमकर फटकार लगायी। उन्होंने कहा कि तीन घंटे से क्लीनिक का पंजीकरण मांग रहे रहे है, लेकिन इस संबंध में कोई कागजात नहीं दिखा रहे हैं। आखिरकार पंजीकरण न दिखा पाने के कारण क्लीनिक पर ताला लगाया गया।

अब PayTM के जरिए भी द एम्पल न्यूज़ की मदद कर सकते हैं. मोबाइल नंबर 9140014727 पर पेटीएम करें.
द एम्पल न्यूज़ डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000 > Rs 10000.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here