पुरुष में गर्भाशय बताने वाले डायग्नोस्टिक सेंटर की होगी जांच

0
81

लखनऊ – पुरूष मरीज के सीटी स्कैन जांच में गर्भाशय और अंडाशय की रिपोर्ट देने वाले माही डायग्नोस्टिक के खिलाफ सीएमओ से शिकायत हुयी है। पीडि़त मरीज द्वारा की गयी शिकायत के बाद जल्द ही स्वास्थ्य महकमा माही डायग्नोस्टिक के खिलाफ कार्रवाई कर सकता है। बीते सोमवार को मरीज जब सीटी स्कैन को लेकर पीजीआई के चिकित्सक को दिखाने पहुंचा। तो चिकित्सक ने रिपोर्ट मानने से इंकार कर दिया और पीजीआई से जांच कराने को कहा। बताते चले कि पीजीआई में पेट के सीटी स्कैन की लम्बी वेटिंग के कारण मरीज को माही डायग्नोस्टिक सेंटर से जांच करानी पड़ी थी।
गौरतलब है कि राजधानी के कानपुर रोड स्थित माही डायग्नोस्टिक सेंटर द्वारा दी गयी सीटी स्कैन रिपोर्ट में पुरूष मरीज के गर्भाशय व अंडाशय की भी रिपोर्ट दी गयी थी।

जब मरीज के परिजनों ने इसकी शिकायत डायग्नोस्टिक सेंंटर के जिम्मेदारों से की। तो उसकी दूसरी रिपोर्ट बना दी गयी। मधुर श्रीवास्तव का शुगर अक्सर गिर जाता है। जिसके कारण उन्हें अस्पताल में आये दिन भर्ती होना पड़ता है। बीते दिनों उनका शुगर एक बार फिर गिर गया। तो उन्हें आलमबाग स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती होना पड़ा। इलाज के दौरान चिकित्सक ने पेट का सिटी स्कैन कराने को कहा। जिसके बाद 2 जून को मरीज के पेट का सिटी स्कैन माही डायग्नोस्टिक सेंटर से हुआ । यहां तक तो सब ठीक रहा, लेकिन जब रिपोर्ट आयी तो उसमें गर्भाशय के बारे में बताया गया था।

रिपोर्ट जब चिकित्सक के सामने पहुंची तो उन्होंने भी इसे मानने से इंकार कर दिया। परिजनों ने गलत रिपोर्ट की शिकायत माही डायग्नोस्टिक सेंंटर के जिम्मेदारों से की,तो उन्होंने आनन-फानन में नयी रिपोर्ट बनाकर दे दी। इस बार रिपोर्ट से गर्भाशय व अंडाशय की जांच हटा दी गयी थी। माही डायग्नोस्टिक द्वारा दी गयी इस रिपोर्ट पर सीएमओ ने भी सवालिया निशान खड़ किया था। साथ ही कार्रवाई करने की बात भी कही थी।

अब PayTM के जरिए भी द एम्पल न्यूज़ की मदद कर सकते हैं. मोबाइल नंबर 9140014727 पर पेटीएम करें.
द एम्पल न्यूज़ डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000 > Rs 10000.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here