प्रदेश को इस बीमारी से मिलेगी जल्द ही निजात

0
82

लखनऊ । प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डा. सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि टीबी गंभीर बीमारी है। हमें वर्ष 2025 को प्रदेश को इस बीमारी से निजात दिलानी है। इसके लिए प्रदेश सरकार व डाक्टरों के प्रयास जारी है आैर इसमें सफलता भी मिलेगी। यह जानकारी सोमवार को टीबी की रोकथाम के लिए गठित यूपी स्टेट टॉस्क फोर्स के कार्यक्रम में प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री सिदार्थ नाथ सिंह ने कही। गोमती नगर स्थित डा. राम मनोहर लोहिया संस्थान के प्रशासनिक भवन में आयोजित कार्यक्रम में टास्क फोर्स के चेयर मैन डा. सूर्यकांत संिहत अन्य वरिष्ठ डाक्टर भी मौजूद थे।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं के तहत लगभग 617 करोड़ रुपए नीति आयोग की ओर से दिया जाना प्रस्तावित है। इस नीति से लागू होने से प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं में जबरदस्त सुधार होगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान में केन्द्र सरकार की ओर से स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी के लिए निर्णायक कदम उठाये गए हैं। इससे रोगियों को उच्चस्तरीय सुविधा का लाभ मिलेगा।

यूपी स्टेट टॉस्क फोर्स के चेयरमैन प्रो. सूर्यकांत ने क हा कि जल्द ही टीबी के मरीजों को प्रतिमाह 500 रुपए का भत्ता मिलना शुरु हो जाएगा। इसके तहत टीबी की दवा के रेपर पर एक गोपनीय कोड नंबर दिया जाएगा। रोगी को कोड पर मिस्ड कॉल करनी होगी। इसके बाद मरीज का पंजीकरण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि यदि मरीज मिस्ड कॉल नहीं करता है तो उससे फोन करके पूछा जाएगा कि उसने दवा खायी कि नहीं । इससे टीबी के प्रथम चरण में मरीज कोर्स का पूरा सेवन करेगा, जिससे एमडीआर के केस नहीं बढ़ेंगे।

उन्होंने बताया कि वर्तमान में प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में इलाज के लिए आने वाले 2.25 लाख मरीजों का पंजीकरण हो चुका है लेकिन निजी चिकित्सकों के पास आने वाले पांच लाख मरीजों में से वर्ष 2017 तक महज 60 हजार रोगी ही पंजीकृत किये गए हैं। अन्य रोगी इससे वंचित हैं। ऐसे में सरकार की ओर से प्रत्येक रोगी को 500 रुपए मासिक भत्ता दिये जाने की शुरुआत की जा रही है।

प्रो. सूर्यकांत ने बताया कि एक टीबी मरीज अपने बीमारी के दौरान करीब 15 लोगों को इससे पीड़ित कर देता है।
टीबी के मरीजों की पहचान के लिए एक्टिव केस फाइंडिंग अभियान चलेगा। इसके तहत श्रमिक, रिक्शा चालक, भिखारी व अति निर्धन लोगों मंे डाक्टरों की टीम जाकर जांच कर तलाश करेंगी। इस दौरान वरिष्ठ चेस्ट रोग विशेषज्ञ पद्मश्री डा. राजेन्द्र प्रसाद, लोहिया संस्थान के निदेशक डा. दीपक मालवीय सहित बड़ी संख्या में डाक्टर मौजूद थे।


अब PayTM के जरिए भी द एम्पल न्यूज़ की मदद कर सकते हैं. मोबाइल नंबर 9140014727 पर पेटीएम करें.
द एम्पल न्यूज़ डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000 > Rs 10000.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here