पीएसी जवानों के कंधे पर होगी लखनऊ मेट्रों की सुरक्षा 

दिल्ली में विशेष प्रशिक्षण देकर किया गया प्रशिक्षित, निजी सुरक्षा कर्मी भी संभालेंगे मोर्चा

0
40

लखनऊ। आगामी जुलाई से लखनऊ में चलने वाली मेट्रो की सुरक्षा का जि मा पीएसी जवानों के कंधे पर डाला गया है। इसके लिए खास तौर पर पीएसी जवानों को दिल्ली में प्रशिक्षित किया जा रहा है। मेट्रो की सुरक्षा की खास बात यह होगी कि यहां भी चेन्नई मेट्रो जैसी ही सुरक्षा व्यवस्था देने का योजना बनी है। पीएसी जवानों को इस काम में निजी सुरक्षा कर्मी भी मदद करेंगे।

एडीजी पीएसी आरके विश्वकर्मा ने बताया कि पीएसी के 393 जवानों को दिल्ली में प्रशिक्षित किया जा रहा है जो जुलाई के अंत तक अपना प्रशिक्षण पूरा कर सुरक्षा का जि मा संभाल लेंगे। उनका कहना था इन जवानों को खास तरह से प्रशिक्षित किया जा रहा है। प्रशिक्षण में बम को निष्क्रिय करने के अलावा अन्य सुरक्षा मानकों की जानकारी दी जा रही है। लखनऊ मेट्रोल रेल कारपोरेशन लिमिटेड के एमडी कुमार केशव का कहना है कि मेट्रो सुरक्षा के लिए हाईटेक सुरक्षा मॉडल को अपनाया गया है।

पीएसी जवान मेट्रो स्टेशनों पर सुरक्षा मापदंडों के अनुसार तत्काल प्रतिक्रिया देने, सामान की स्कैनिंग कर उनकी जांच करने तथा खोजी कुत्तों की एक टीम बनाकर चेकिंग का जायजा लेने के लिए जि मेदार होंगे। इसके अलावा पीएसी जवानों की मदद के लिए निजी जवानों को भी तैनात किया जाएगा। निजी जवान मेट्रों की सुरक्षा के अलावा साफ सफाई पर पैनी नजर रखेंगे।

आठ मेट्रो स्टेशन की सुरक्षा का खींचा गया खाका

एडीजी पीएसी आरके विश्वकर्मा ने बताया कि शुरुआती चरण में लखनऊ के आठ मेट्रो स्टेशन पर सुरक्षा का खाका खींचा गया है। आठ मेट्रो स्टेशन पर चार सौ जवान सुरक्षा व्यवस्था को देखेंगे।

ये होंगे सुरक्षा कर्मी

मेट्रो की सुरक्षा के लिए सात कंपनी कमांडर, 42 प्लाटून कमांडर, 72 हेड कांस्टेबल, 212 पुरुष सिपाही, 60 महिला सिपाही शामिल होंगी। यात्रियों को किसी तरह की परेशानी से बचाने के लिए तीन सि$ टों में सुरक्षा कर्मियों को ड्यूटी पर लगाया जाएगा। पहली सि ट सुबह पांच बजे से दोपहर दो बजे तक की होगी। उसके बाद दूसरी सि ट दो बजे से रात 11 बजे तक और तीसरी सि ट रात 11 बजे से सुबह पांच बजे तक होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here