लखनऊ को पिछले 120 दिनों में एक भी दिन नहीं मिली साफ हवा, शहर में बढ़ रहा सांस का संकट

0
29

कृत्रिम फेफड़ों को लालबाग क्षेत्र में लगाए जाने के 5 वें दिन इनकी हालत और खराब हो गयी. हवा में मौजूद पी एम् 2.5 और पी एम् 10 तत्व इन फेफड़ों के बाहरी सतह पर जम चुके हैं, जिनकी वजह से इनका रंग काला हो गया है. ज्ञात हो कि दिनांक 10 जनवरी 2019 को लखनऊ शहर के लालबाग क्षेत्र में नगर निगम के सामने सौ प्रतिशत उत्तर प्रदेश अभियान द्वारा हेपा फिल्टर युक्त एक जोड़ा कृत्रिम फेफड़ा स्थापित कर आम जनता को जागरूक करने की शुरुवात की गयी थी.

इस सन्दर्भ में दैनिक अपडेट जारी करते हुए सौ प्रतिशत उत्तर प्रदेश अभियान कि मुख्य कैम्पेनर एकता शेखर ने बताया “ सीपीसीबी के आंकड़ों के आधार पर यह स्पष्ट है कि पिछले 120 दिनों में लखनऊ में एक भी दिन हवा राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप स्वच्छ नहीं रही. आज निरंतर गंभीर रूप से प्रदूषित हवा में रह रहे लखनऊ के निवासियों को ग्रेडेड एक्शन प्लान की जरुरत है. प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और राज्य सरकार को समयबद्ध रूप से जरूरी कदम उठाने चाहियें. एन सी ए पी की घोषणा भी हो चुकी है, लेकिन लखनऊ की आबोहवा और सम्बंधित विभागों पर अब तक इसका कोई असर निही दिख रहा. इसके लिए सभी राजनीतिक दलों के कार्यालय में हमारे अभियान की ओर से चिट्ठी जारी कर उन्हें कृत्रिम फेफड़े के पास आने और वायु प्रदूषण कम करने हेतु जरुरी कार्यक्रम पर अमल करनी का संकल्प दिलाया जाएगा.”

प्रदूषण मुक्त लखनऊ अभियान के संयोजक और श्वसन मामलों के जाने माने जानकार डा सूर्य कान्त ने कहा “जिस प्रकार यह कृत्रिम फेफड़ा केवल कुछ ही दिनों में काला पड गया है, ठीक उसी प्रकार समाज में ज्यादातर लोग काले फेफड़ों के साथ ही जीवन जी रहे हैं. आज लखनऊ शहर का वायु गुणवत्ता सूचकांक 320 है, जिसका अर्थ हुआ कि शहर में रहने वाला प्रत्येक व्यक्ति 15 सिगरेट पी रहा है. ऐसे में, अस्पतालों में लगती लम्बी कतारें तभी कम होंगी जब शहर में प्रदूषण कम होगा. समाज के हर एक वर्गों के लोगों को इस सन्दर्भ में एकजुट होना होगा, तभी स्वच्छ हवा वापस पाना मुमकिन हो सकेगा.”

अब PayTM के जरिए भी द एम्पल न्यूज़ की मदद कर सकते हैं. मोबाइल नंबर 9140014727 पर पेटीएम करें.
द एम्पल न्यूज़ डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000 > Rs 10000.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here