नए कृत्रिम पदार्थ से दांत के इनेमल का फिर से बनना संभव

0
88

लंदन – वैज्ञानिकों ने ऐसा पदार्थ विकसित किया है जिससे दांत की परत (इनेमल) को दोबारा बनाने में मदद मिल सकती है आैर इनसे दांतों की सड़न आैर उनमें महसूस होने वाली झनझनाहट को भी रोका जा सकेगा। दांतों के बाहरी हिस्से पर मौजूद इनेमल शरीर के सबसे सख्त उत्तक होते हैं। अम्लीय खाना , पेय पदार्थों से संपर्क या अत्यधिक तापमान बर्दाश्त कर ने या बहुत ठोस चीजें चबाने के बावजूद हमारे दांत बहुत लंबे समय तक काम कर पाते हैं तो इसी परत की वजह से।
दांतों की बेहत संगठित संरचना के कारण वह इतने सारे काम कर पाते हैं।

हालांकि शरीर के दूसरे उत्तकों से उलट यह परत एक बार नष्ट हो जाने के बाद फिर से नहीं बन पाती है जिससे दांत टूटने लगते हैं आैर उनमें दर्द रहता है। यह समस्या विश्व की 50 प्रतिशत आबादी को प्रभावित करती है। इसलिए इस परत को फिर से बना पाने के तरीके तलाशना दंतचिकित्सा की एक बहुत बड़ी जरूरत बन गया था। यह अध्ययन ‘ नेचर कम्युनिकेशन्स ” पत्रिका में प्रकाशित हुआ है जिनमें कृत्रिम पदार्थ बनाने की नई तकनीक विकसित करने के संबंध में जानकारी दी गई है।

अब PayTM के जरिए भी द एम्पल न्यूज़ की मदद कर सकते हैं. मोबाइल नंबर 9140014727 पर पेटीएम करें.
द एम्पल न्यूज़ डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000 > Rs 10000.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here