मुसलाधार बारिश में बखूबी जिम्मेदारी निभा रही है 108 एंबुलेंस: वालिया

0
54

लखनऊ।प्रदेश में लगातार हो रही मुसलादार बारिश के बीच 108 व 102 एम्बुलेंस ने बखूबी अपनी भूमिका निभाई। लगातार हुई बारिश से जलभराव झेल रहे इलाको में भी एम्बुलेंस कर्मियों ने पूरी तत्परता के साथ मरीजो की मदद की।अभी ऐसे कई उदाहरण राजधानी व आसपास के जिलों में देखने को मिले जहां पर 108 एंबुलेंस ने मरीजों को भीषण जलभराव होने के बाद भी मौके पर पंहुच कर अस्पताल पंहुचाया।

प्रदेश में 108 व 102 एंबुलेंस सेवा का संचालन करने वाली संस्था जीवीकेईएमआरआई के मुख्य परिचालन अधिकारी जितेंद्र वालिया ने मंगलवार को बताया कि इस समय पूरे प्रदेश में मूसलाधार बारिश हो रही है जिसका खासा असर ग्रामीण क्षेत्रों में देखने को मिल रहा है हालाकि इससे शहरी क्षत्र भी अछूते नही हैं। श्री वालिया ने बताया कि इतनी भीषण बारिश में भी हमारी टीम उतनी ही तन्मयता से काम कर रही है।

चाहे सीतापुर हो या फिर उन्नाव,लखीमपुर हो य बहराईच और या फिर राजधानी के ग्रामीण क्षेत्र हमारी एंबुलेंस और उसके पायलट व ईएमटी त्वरित गति से मरीजों को मदद पंहुचाने में जुटे हुए हैं। श्री वालिया ने कहा कि राजधानी में मोहनलालगंज,गोसाईगंज व नगराम में कई मामलों में 108 एंबुलेंस मरीजों को लेने भीषण जलभराव में भी पंहुची और उन्हे सुरक्षित नजदीकी अस्पताल पंहुचाया। इसी तरह सीतापुर में भी दो मामलों में एंबुलेंस ने जलभराव वाले क्षेत्र में पंहुचकर मरीजो की मदद की।

श्री वालिया ने कहा कि कुछ लोग भ्रम की स्थिति पैदा करने का काम कर रहे हैं जो किसी भी मामले में यह फर्जी खबर वायरल कर देते हैं कि फोन करने के बाद भी एंबुलेंस नही आयी और फला मरीज को ठेले से य फिर अन्य संसाधन से अस्पताल ले जाना पड़ा। बता दे कि हमारे काल सेंटर में हर कॉल का डाटा मौजूद रहता है और मै खुद कई मामलों में इसकी सत्यता जांच चुका हूं जिसमें पता ये चलता है य तो उस व्यक्ति ने कॉल किया ही नही और या तो कॉल करने के बाद रिस्पांस टाईम के पहले ही स्वंय ही अस्पताल के लिए चला गया। उन्होने कहा कि वर्ष 2012 से लेकर अब तक हमारी टीम ने अपनी जिम्मेदारी को पूरी ईमानदारी से निभाया है और अब तक ढाई करोड़ से भी अधिक लोग इससे लाभवन्तित हुए हैं।

श्री वालिया ने कहा कि इस समय बारिश की वजह से नेटवर्किंग भी काफी प्रभावित हैं और उसके बाद भी हमारा प्रयास यही रहता है कि कोई जरूरतमंद छूटने न पाये। मैने सभी आपरेटरों को स्पष्ट कह रखा है कि कोई कॉल अगर आती है और कनजेशन की वजह से बात नही हो पाती है तो आप कॉल बैक कर उससे बात करें और उसकी मदद करें। श्री वालिया ने कहा कि बहुत कम समय मे 108 एंबुलेंस सेवा ने प्रदेश में अपनी अलग पहचान बनायी है और मरीजों की सेवा के साथ ही आपदा और आपात घटना के समय में भी  अपनी उपयोगिता को सिद्व किया है । उक्त जानकारी संस्था के मीडिया सलाहकार आनंद दीक्षित ने दी।

अब PayTM के जरिए भी द एम्पल न्यूज़ की मदद कर सकते हैं. मोबाइल नंबर 9140014727 पर पेटीएम करें.
द एम्पल न्यूज़ डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000 > Rs 10000.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here