लखनऊ पहुंचे ज्यादातर मरीजों की हालत गंभीर

0
52

लखनऊ । रायबरेली के नेशनल थर्मल पावर कारपोरेशन  के प्लांट मे ब्वायलर में विस्फोट से घायलों को किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के ट्रामा सेंटर रात करीब पौने दस बजे 108 एम्बुलेंस से लाया गया। आपदा प्रबधंन के तहत यहां पर केजीएमयू कुलपति प्रो. एमएलबी भट्ट के नेतृत्व में चिकित्सा अधीक्षक व प्लास्टिक सर्जन डा. विजय कुमार अपनी टीम के साथ मौजूद थे। घायलों में ज्यादातर बर्न के मरीज होने के कारण सभी टीम इलाज में  करने में तत्काल जुट गयी। उधर सिविल अस्पताल में करीब सात मरीज गंभीर हालत में पहुंच गये थे, जिनकी हालत अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डा. आशुतोष दुबे के अनुसार सभी गंभीर हालत में है। इलाज किया जा रहा है।

108 एम्बुलेंस के मीडिया प्रभारी आनंद दीक्षित ने बताया कि राय बरेली से करीब बीस 108 व 102 एम्बुलेंस की गाड़ियों के साथ एएलएस एम्बुलेंस भी वहां से घायलों को लेकर निकली है। उन्होंने बताया कि प्रथम चरण में गंभीर घायलों को लेकर 14 एम्बुलेंस में 18 मरीज को लाया गया। इसके बाद घायलों की गंभीरता के अनुसार देर रात रायबरेली के डाक्टरों के अनुसार एम्बुलेंस मरीजों को लखनऊ इलाज के लिए लेकर आती रहेगी।  सीएमओ डा. जीएस बाजपेयी ने बताया कि घटना को देखते हुए सभी अस्पतालों को हाई अलर्ट करते हुए सिविल अस्पताल, बलरामपुर अस्पताल के साथ केजीएमयू के ट्रामा सेंटर भेजा गया।

ट्रामा सेंटर में बताया जाता है कि करीब दस गंभीर मरीजों को भर्ती कराया गया। यहां पर इन मरीजों के इलाज के लिए अलग ही वार्ड व अन्य आवश्यक दवाओं के उपलब्ध करा दिया गया था। ट्रामा सेंटर प्रभारी डा. हैदर अब्बास ने बताया कि मरीजों की संख्या बढ़ने को देखते हुए अतिरिक्त व्यवस्था भी की गयी। चिकित्सा अधीक्षक डा. विजय कुमार ने बताया कि मरीजों की स्थिति के अनुसार उनका इलाज तत्काल शुरू कर दिया गया। मरीजों के इलाज के विशेषज्ञ डाक्टरों की टीम लगा दी गयी है। लखनऊ के सिविल अस्पताल लाए गए एक मरीज की डॉक्टरों ने जांच के बाद मृत घोषित कर दिया। देर रात तक ट्रामा सेंटर में मरीजों को लाया जा रहा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here