कई मामलों में यादगार होगा प्रयागराज का कुम्भ

0
45

न्यूज। प्रयागराज में 15 जनवरी से शुरू हो वाला दुनिया का सबसे बड़ा आध्यात्मिक आैर सांस्कृतिक समागम ‘कुम्भ 2019″ एक नहीं कई मामलों में यादगार साबित होगा। देश के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री के अलावा विदेशी भी कुम्भ में शामिल होंगे। लौकिक, अलौकिक एवं पारलौकिक का आंनद कुम्भ देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू समेत कई विदेशी राष्ट्राध्यक्षों और वीवीआईपी की बानगी बनेगी।

पहली बार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने मंत्रियों को देश के राज्यों में भेजकर वहां के राज्यपाल और मुख्यमंाी एवं संतो से मुलाकात कर मानवता के संगम में शिरकत करने को आमंाित किया है। इसके साथ विदेशी महत्वपूर्ण अतिथियों को भी आमंाित किया गया है। बताते चले कि कुम्भ मेला प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकताओं है। इसको दिव्य और भव्य बनाने के लिए सीएम योगी यहां आठ बार से अधिक का दौरा हो चुके है। इस दौरान उन्होंने कई बार तो यहां रात्रि विश्राम भी कर चुके हैं।

योगी ने शनिवार को संगम की रेती पर तीनों अनी अखाड़ों- पंचनिर्मोही अनी अखाड़ा, पंचनिर्वाणी अनी अखाड़ा और पंचदिगंबर अनी अखाड़े में धर्मध्वजा समेत कई कार्यक्रमों में शिरकत करने के बाद 17 जनवरी को राष्ट्रपति और 24 जनवरी को प्रधानमंत्री के संगम में आने के बारे में जानकारी दी थी।

यहां 31 जनवरी और एक फरवरी को होने वाली धर्म-संसद में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत आयेंगे। इसके अलावा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह को भी धर्म-संसद में शिरकत करने के लिए आमंाित किया गया है। मेला में दुनिया के विभिन्न देशों की अलग अलग संस्कृतियों से आने वाले श्रद्धालुओं एवं पर्यटकों का अछ्वुद समागम होगा, जहां मुख्यरूप से ”मानवता”” व्याप्त होगी।

यह कुम्भ वैसे भी अपने आप में एक यादगार होगा क्योंकि पहली बार यहां 70 देशों के राजनायिकों को कुम्भ मेले की तैयारी को देखने आये। सूबे की सरकार ने प्रदेश के छह लाख गांवों को भी कुम्भ का निमाण भिजवाकर प्रदेश की संस्कृति को उजाकर किया है।

अब PayTM के जरिए भी द एम्पल न्यूज़ की मदद कर सकते हैं. मोबाइल नंबर 9140014727 पर पेटीएम करें.
द एम्पल न्यूज़ डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000 > Rs 10000.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here