ऑनर किलिंग या आत्महत्या

0
127

हजरतगंज इलाके में जापलिंग रोड स्थित सूरजदीप कॉ प्लेक्स के पांचवीं मंजिल से प्रेमी युगल ने हाथ की नस काटने के बाद छलांग लगा दी। प्रेमी युगल की सुबह खून से लतपथ लाश मिलन से हड़कंप मच गया। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं मौके पर पहुंची फ ॉरेंसिक एक्सपर्ट की टीम ने खून के सैंपल लिए। फि लहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

जानकारी के मुताबिक हजरतगंज थानाक्षेत्र स्थित शुक्रवार तड़के सुबह पुलिस को एक युवक और युवती की शव जापलिंग रोड स्थित सुरजदीप कॉ प्लेक्स के नीचे पड़े होने की सूचना मिली थी। मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर शिना त कराई। मृतकों की शिना त कटरा मकबूलगंज निवासी काजल पाण्डेय २३ पुत्री रत्नाकर पाण्डेय व ओजस तिवारी २५ पुत्र आनन्द तिवारी के रुप में हुई। ओजस और काजल पड़ोसी थे और दोनों के बीच प्रेम-प्रसंग चल रहा था और दोनों शादी करना चाहते थे। ओजस सुरजदीप कॉ प्लेक्स स्थित मैक इंस्टीट्यूट में ही एनिमेशन का कोर्स कर रहा था। वहीं काजल बीएससी तृतीय वर्ष की छात्रा थी।

बताया जा रहा है कि दोनों शादी करना चाहते थे, लेकिन परिवार इसके खिलाफ था। इसी के चलते गुरुवार देर रात दोनों यहां पहुंचे और खुदखुशी करने का फैसला कर लिया। वहीं लड़की ने अपने सुसाइड नोट में दोनों की शादी न हो पाने की परेशानी का जिक्र किया। फि र सुसाइड का फैसला लिया और छलांग लगी दी। सुसाइड की सूचना पाकर मौके पर आईजी रेंज लखनऊ जय नारायण सिंह, एसएसपी दीपक कुमार, एएसपी पूर्वी, सीओ हजरतगंज, कोतवाली प्रभारी एके शाही पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस को मौके से एक मोबाइल फोन बरामद हुआ है। जिसमें सिमकार्ड नहीं लगा है। पुलिस मामले की जांच-पड़ताल में जुटी है।

शुक्रवार सुबह तड़के करीब पौने छह बजे सूरजदीप कॉ प्लेक्स के गार्ड तेजपाल ने दोनों का शव ग्राउंड लोर पर पड़ा देखा। शव के आस-पास काफ ी खून फैला हुआ था। लड़की के शरीर से ज्यादा खून बहा था। यह नज़ारा देखकर तेजपाल घबरा गया और उसने सबसे पहले अपने सुपरवाइजर विनीत को इसकी सूचनी दी। देखते ही देखते लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। इसी दौरान इसी का प्लेक्स में जिम के लिए आयी एक युवती ने १०० न बर पर पुलिस को सूचना दी।
पुलिस के मुताबिक दोनों देर रात इस इमारत में चूपचाप पहुंचे। इसकी भनक गार्ड को भी नहीं लगी। इसके बाद दोनों से बिल्डिंग की छत पर बनी एक कोठरी में बातचीत की।

दोनों ने यहीं पर ब्लेड से हाथ की नस काटी और छलांग लगा दी। छत पर एक जगह नई ब्लेड और काफ ी खून बिखरा था। यहीं से काजल से नीचे छलांग लगा दी। इससे उसके हाथ और पैर की हड्डियां टूट गई। लेकिन लड़के के शरीर पर हाथ की नस कटने के आलावा चोट के कोई निशान नहीं थे। एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि सिर्फ हाथ की नस कटी है और पूरे शरीर पर चोट के निशान नहीं है। इससे साफ है कि किसी से कोई संघर्ष नहीं हुआ है। वहीं सीओ ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दोनों की मौत ब्लीडिंग से होने की बात कही है।

लड़की के परिजनों ने दर्ज कराया था केस-

पुलिस के मुताबिक गुरुवार शाम करीब ६:४५ बजे काजल अपने घर कैसरबाग स्थित अपने घर से निकल गई थी। काजल के तऊ भास्कर पांडेय ने मृतक ओजस के खिलाफ ही उसे बहला फु सलाकर भागा ले जाने का मुकदमा कैसरबाग में दर्ज कराया था। इसमें उन्होंने ओजस के परिवार वालों को भी दोषी ठहराया था। इसके कुछ घंटों के बाद हजरतगंज थाना क्षेत्र में दोनों की शव मिली।

आनर किलिंग या फिर आत्महत्या

पुलिस जहां दोनों प्रेमी युगल की मौत को आत्महत्या का रुप दिया है। वहीं पुलिस की थ्योरी से यह घटना पूरी तरह भिन्न नजर आ रहीं है। पुलिस का कहना है कि युवक ने पहले ब्लेड से हाथ की नस काट ली बाद में वह दोनों ने छलांग लगा दी। लेकिन सीसीटीवी फुटेज में पुलिस के इस थ्योरी को झूठा साबित कर रहीं है। फुटेज में दोनों के शव एक साथ जमीन पर गिरे और उसी हलात में पड़े रहे। विशेषज्ञों की मानें तो बिल्डिग़ चाहें जितनी भी ऊचीं क्यों न हो अगर कोई भी नीचे गिरेगा तो शरीर कुछ देर हरकत जरूर होगी, लेकिन इस घटना में सीसीटीटी कैमरे में कैद दोनों के शरीर में कोई भी मूमेंट नहीं देखने को मिला। इससे यहीं अंदाजा लगाया जा सकता है कि इस वारदात के पीछे कई अहम पहेलू और भी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here