गोरखपुर में सीएम ने की कई स्वास्थ्य परियोजनाओं की शुरुआत

0
69

न्यूज। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को गोरखपुर के जिला महिला चिकित्सालय परिसर में 50.75 करोड़ रुपए की लागत की नौ परियोजनाओं का लोकार्पण,शिलान्यास किया। इसमें 45.56 करोड़ रुपए की लागत की छह परियोजनाओं का लोकार्पण तथा 5.19 करोड़ रुपए की लागत की तीन परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया।
इस अवसर पर उन्होंने जे.ई,ए.ई.एस. रोग की रोकथाम सम्बन्धी पुस्तक तथा इसकी कार्य योजना सम्बन्धी पुस्तक का विमोचन भी किया गया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि लोकार्पित 100 शैय्यायुक्त एम.सी.एच. विंग एवं 100 शैय्यायुक्त क्षय रोग सह सामान्य चिकित्सालय एवं तीन मिनी पी.आई.सी.यू. महत्वपूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने में काफी उपयोगी होंगे। इन स्वास्थ्य सुविधाओं से केवल जनपद गोरखपुर ही नहीं, बल्कि नेपाल, बिहार एवं बस्ती, आजमगढ़ आदि मण्डलों के जनपदों के मरीज लाभान्वित होंगे।

उन्होंने कहा कि 100 शैय्या एम.सी.एच. विंग एवं क्षय रोग सह सामान्य चिकित्सालय का कार्य समय से पूर्ण हुआ है आैर जब योजना समयबद्ध ढंग से पूर्ण होती है तो रिवाइज स्टीमेट की आवश्यकता नहीं होती है।
परियोजनाओं में 100 शैय्यायुक्त एम.सी.एच विंग महिला चिकित्सालय, 100 बेड के टीबी हॉस्पिटल का निर्माण, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र अरांव जगदीश उरूवा, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पिपरौली, चैरी चैरा एवं गगहा में मिनी पी.आई.सी.यू. की स्थापना तथा शिलान्यास परियोजनाओं में जिला चिकित्सालय में एम.आर.आई. मशीन की स्थापना, जिला महिला चिकित्सालय में ओ.टी. उच्चीकरण, माड्युलर ओ.टी. की स्थापना तथा नेताजी सुभाष चन्द्र बोस जिला पुरुष चिकित्सालय में ओ.टी. का उच्चीकरण, माड्युलर ओ.टी. की स्थापना शामिल है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं के क्षेत्र में बेहतरी हेतु प्रदेश अग्रणी भूमिका में है। इंसेफेलाइटिस की रोकथाम में काफी सफलता मिली है आैर आने वाले समय में इसे पूरी तरह से नष्ट करने की दिशा में प्रबल कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने बताया कि 25 फरवरी से पुन: जे.ई. टीकाकरण का प्रथम चरण प्रारम्भ होने जा रहा है। द्वितीय चरण 15 मई से 15 जून तथा तृतीय चरण एक जुलाई से 31 जुलाई तक चलाया जायेगा। उन्होंने कहा कि इस बीमारी पर नियंत्रण पाने पंचायती राज, स्वास्थ्य, बेसिक शिक्षा, आईसीडीएस एवं आपूर्ति विभाग को आपस में समन्वय बनाकर कार्य करने को कहा गया है। उन्होंने कहा कि बीमारी के प्रति जनमानस को सावधानी बरतनी चाहिए आैर इंसेफेलाइटिस के लक्षण दिखते ही तत्काल नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र पर ले जाकर इलाज प्रारम्भ करा देना चाहिए।

अब PayTM के जरिए भी द एम्पल न्यूज़ की मदद कर सकते हैं. मोबाइल नंबर 9140014727 पर पेटीएम करें.
द एम्पल न्यूज़ डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000 > Rs 10000.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here