डिलीवरी में छोड़ दी रूई, निकालने में फाड़ दी आंत, महिला गंभीर, हंगामा

0
48

लखनऊ। कोचिंग की आड़ में चलाये जा रहे अवैध अस्पताल में करायी गर्भवती महिला की डिलीवरी के दौरान अंदर रूई छूट गयी। यह अवैध अस्पताल गुडम्बा के कुर्सी रोड गौराबाग स्थित एक घर में कोचिंग की आंड में चलाया जा रहा है। दर्द रहने पर महिला की अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट में रुई दिखने पर दोबारा ऑपरेशन कर दिया तो इस बार गलती से बड़ी आंत फट गई आैर उसकी हालत गंभीर हो गयी। सोमवार की सुबह परिजनों को यह जानकारी हुई तो उन्होंने बवाल काट दिया। बवाल को शांत कराने के लिए अस्पताल के कर्मचारियों और परिजनों के बीच हाथापाई भी हुई। सूचना पाकर मौके पर पुलिस के पहुंची तो पता चला कि अस्पताल संचालक भाग निकला है। पुलिस ने मौके पर पहले गंभीर हालत में पीड़ित महिला को एम्बुलेंस 108 की मदद से ट्रॉमा सेंटर भेजा आैर उसके बाद मौके पर मिली नर्स और वार्ड ब्वाय को हिरासत में ले लिया है। देर शाम तक स्वास्थ विभाग को इसकी जानकारी नहीं थी।

बाराबंकी निवासी विमलेश के मुताबिक करीब तीन महीने पहले उसने डिलीवरी के लिए अपनी पत्नी सुमन देवी (32) को डॉक्टर संतोष के माध्यम से कुर्सी रोड गौरबाग कॉलोनी स्थित निजी अस्पताल में भर्ती करवाया था। विमेलश की शिकायत के मुताबिक डॉ. संतोष ने खुद को अस्पताल का मालिक बताते हुए बड़े सीजर सर्जरी से बेटी को जन्म कराया। सर्जरी के बाद से ही सुमन ने पेट मे लगातार दर्द की शिकायत की, कुछ दिनों पहले परिजनों ने अल्ट्रासाउंड करवाया तो रिपोर्ट देख कर होश उड़ गये। रिपोर्ट में सर्जरी के दौरान सुमन के पेट मे रुई छूट गयी है। इसकी शिकायत जब डॉ. संतोष से की गयी तो बिना रुपये लिए सर्जरी कर गलती सुधारने का दावा किया, जिसके बाद परिजनों ने सुमन को 11 अप्रैल की सुबह भर्ती किया। परिजनों का आरोप है कि सूचना दिए ही डॉक्टरों ने 13 अप्रैल की रात में ऑपरेशन कर कॉटन को बाहर निकालने की जानकारी दी।

अगले दिन तबियत बिगड़ने के साथ ही पेट से लगातार निकल रहे मल को देख कर परिजनों परेशान हो गये। उन्होंने डॉक्टर को जानकारी दी , इस पर सोमवार को बाहर से बुलाये ऑन कॉल डॉक्टर ने चेकअप के बाद आंत फटने की जानकारी देते हुए जल्द ही केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर ले जाने का परामर्श दिंया, जिसके बाद परिजनों ने लापरवाही का आरोपित लगाते हुए बवाल मचा दिया, तो कर्मचारियों ने शांत कराते हुए हाथपायी तक कर दी। पीड़ित परिवारीजनों ने घटना की सूचना यूपी-100 पर दे दी। पुलिस पहुंचती उससे पहले ही अस्पताल संचालक भाग निकला। मौके पर मिली नर्स अनामिका व वार्ड ब्वॉय मान सिंह को पुलिस ने हिरासत में लिया है। पुलिस ने परिजनों की मदद से 108 एम्बुलेंस से महिला को केजीएमयू के ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया।

अब PayTM के जरिए भी द एम्पल न्यूज़ की मदद कर सकते हैं. मोबाइल नंबर 9140014727 पर पेटीएम करें.
द एम्पल न्यूज़ डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000 > Rs 10000.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here