साइकिल चलाकर डाक्टरों ने किया विरोध

0
155

लखनऊ । इंडियन मेडीकल एसोसिएशन(आईएमए) से जुड़े डाक्टर रविवार को राष्ट्रीय चिकित्सा परिषद विधेयक के खिलाफ 11 मार्च को सुबह साइकिल यात्रा निकाली। यह यात्रा सुबह आठ बजे आईएमए भवन से शुरु होकर शहीद स्मारक तक गयी आैर उसके बाद वापस आईएमए भवन पर आकर समाप्त हो गयी। आईएमए लखनऊ के अध्यक्ष डा. सूर्यकांत ने चेतावनी दी है कि अगर कोई सुनवाई नहीं हुई तो यह साईकल रैली 11 मार्च को पूरे देश में एक साथ निकलेगी और 25 मार्च को दिल्ली के इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में समाप्त होगी जहां विधेयक के खिलाफ महापंचायत होगी।

साईकिल यात्रा समापन पर सचिव डा. जेडी रावत ने कहा कि सरकार ने यदि जल्द ही इस विधेयक को वापिस नहीं लिया तो अनिश्चिकालीन हड़ताल की जाएगी। उन्होंने कहा कि आयुर्वेदिक, योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा,यूनानी, सिद्धा, एवं होम्योपैथी की योग्यता रखने वाले डाक्टर भी एलोपैथिक मेडिसिन में अपना पंजीकरण करा सकेंगे एवं एलोपैथिक दवाएं लिख सकेंगे। इससे एलोपैथिक डाक्टर की गुणवत्ता में कमी आएगी।

आईएमए के डा. पीके गुप्ता ने कहा कि प्राइवेट मेडिकल कालेजों में सरकार का केवल 40 प्रतिशत सीटों पर नियंत्रण रह गया है, जो कि मौजूदा समय में 85 प्रतिशत है। इससे सभी प्राइवेट मेडिकल कालेजों में मनमानी फीस वसूली जाने लगेगी। डा. एम ए खान ने कहा कि मौजूदा समय में एमबीबीएस की डिग्री लेकर आने वाले छात्रों को एमसीआई स्क्रीनिंग टेस्ट देना होता था, जिससे ज्ञात हो सके कि उन्हें भारतीय चिकित्सा व्यवस्था के अनुकूल ज्ञान नहीं है, पर एनएमसी बिल आ जाने के बाद कुछ नहीं होगा।

अब PayTM के जरिए भी द एम्पल न्यूज़ की मदद कर सकते हैं. मोबाइल नंबर 9140014727 पर पेटीएम करें.
द एम्पल न्यूज़ डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000 > Rs 10000.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here