आयुष्मान जैसी योजना विश्व में कहीं नही : राजनाथ

केजीएमयू का 114 वां स्थापना दिवस समारोह

0
103

लखनऊ। हेल्थ सेक्टर में अभी देश की जीडीपी का मात्र 1.16 प्रतिशत ही खर्च हो रहा है। हमारी सरकार का प्रयास है कि हेल्थ सेक्टर में इसको बढ़ाकर कम से कम 2.5 प्रतिशत पर ले जाना होगा। तभी चिकित्सा व्यवस्था को बेहतर स्तर पर ले जा सकेगा। भारत विश्व में हेल्थ सेक्टर में खर्च करने वाले देशों में सबसे निचले पायदान पर है। यह बात केन्द्रीय गृहमंत्री व सांसद राजनाथ सिंह ने किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के 114 वें स्थापना दिवस समारोह कही। इस अवसर पर उन्होंने केजीएमयू के मेधावी छात्र-छात्राओं को मेडल व सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया। समारोह में राज्यमंत्री चिकित्सा एवं स्वास्थ्य महेन्द्र पाण्डेंय, भारतीय आयुर्विज्ञान परिषद नयी दिल्ली की पूर्व अध्यक्ष डा. जयश्री बेन मेहता, अमरीका से डा. सुरेद्र वर्मा व डा. कमलेश वर्मा मौजूद थे।

मुख्यअतिथि केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि केन्द्र सरकारी की आयुष्मान योजना की प्रशंसा करते हुए कहा कि ऐसी स्वास्थ्य बीमा योजना पूरे विश्व में कहीं नहीं है। उन्होंने केजीएमयू की प्रशंसा करते हुए कहा कि यहां का मुख्य अतिथि बनना अपने आप में गौरव प्राप्त करना है। उन्होंने चिकित्सा पेशे को सेवा साधना बताते हुए कहा कि मरीज को ठीक करने के बाद जो सुखद आनन्द डॉक्टर को प्राप्त होता है, वह करोड़ों खर्च करके भी नहीं पाया जा सकता है। केजीएमयू में काम के अधिक दवाब के बावजूद मरीजों को मिल रहे अच्छे इलाज की तारीफ करते हुए गृहमंत्री ने कहा कि तमाम राजनीतिक व काम के दवाब के बीच यहां के डॉक्टर अपने काम को बखूबी कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि मंदिर-मस्जिद में पूजा या इबादत करने वाले ही अध्यात्मिक तथा बड़े मन के नहीं होते बल्कि बड़े मन का व्यक्ति ही सही अर्थ में अध्यात्मिक होता है। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि राज्यमंत्री चिकित्सा एवं स्वास्थ्य महेन्द्र सिंह ने बड़े ही रोचक तरीके से अपने सम्बोधन में केजीएमयू के 114वें स्थापना दिवस के समय को महीनों, हफ्तों, घंटों, मिनटों और सेकेंड्स में बताते हुए कहा कि हर सेकेंड मरीज के लिए महत्वपूर्ण होता है। यहां के डाक्टर पूरे मनोयोग से मरीजों के इलाज तो करते ही है। साथ ही देश में नहीं पूरे विश्व पटल पर केजीएमयू का नाम रोशन करने का कार्य यहां के डाक्टर कर रहे हैं। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि भारतीय आर्युविज्ञान परिषद, नई दिल्ली की पूर्व अध्यक्ष जयश्री बेन मेहता ने कहा कि नये डाक्टर अपने कर्तव्यों का निर्वाहन पूरी जिम्मेदारी के साथ करें।

उन्होंने कहा कि केद्र सरकार मेडिकल कालेजों का स्तर को सुधार रही है ताकि सभी मरीजों को बेहतर इलाज मिल सके। समारोह में डा. सिद्धार्थ दास ने भी सम्मोधित करते हुए नये डाक्टरों को डिग्री के साथ उनकी जिम्मेदारी के बारे में बताया कि समारोह के दौरान पैरामेडिकल छात्रों ने सास्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किये। एम्स का दर्जा देने की मांग को बाइपास कर दिया गृहमंत्री ने केजीएमयू को एम्स का दर्जा दिये जाने की मांग पर गृहमंत्री कुलपति द्वारा मांग किये जाने पर बड़ी सफाई से टालते राजनाथ सिंह ने कहा यह सही है कि केजीएमयू ने विश्वपटल पर ख्याति प्राप्त की है, लेकिन केजीएमयू को अभी एम्स का दर्जा देना इतना आसान नहीं है। इसके लिए पॉलिसी में कई परिवर्तन करने होंगे। इसमें बहुत समय लगेगा। वर्तमान में इतना समय नहीं है। एम्स का दर्जा दिया जाने में आ रही तकनीकी दिक्कतों को जल्द ही दूर करने की कोशिश की जाएगी।

कुलपति प्रो. एमएलबी भट्ट ने केजीएमयू की गिनायी उपलब्धियां

केजीएमयू कुलपति प्रो. एमएलबी भट्ट द्वारा चिकित्सा विश्वविद्यालय की वार्षिक प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत की । उन्होंने कहा मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने केजीएमयू को 2018 का पांचवा सर्वश्रेष्ठ चिकित्सा संस्थान का दर्जा दिया है। आगामी योजनाओं के बारे में उन्होंने बताया कि स्पोर्टस मेडिसिन, बर्न केयर यूनिट और स्पाइनल केयर का डिपार्टमेंट स्थापित किया जा चुका है। पीडियाट्रिक आर्थोपेडिक्स विभाग में डीएम का कोर्स प्रारम्भ होने जा रहा है, जिसे एमसीआई से मान्यता मिल चुकी है। संस्थान में मिल्क बैंक की स्थापना की जा रही है। विवि में बर्न यूनिट एवं स्किल सेंटर भी स्थापित किए जा चुके हैं।

तीमारदारों के लिए रैन बसेरा के शुभारम्भ 25 दिसंबर को पूर्व प्रधानमंत्री स्व अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिवस पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह द्वारा किया जायेगा। डा. अजय सिंह व डा. सूर्यकांत समेत सात लेखकों की पुस्तकों का हुआ विमोचन केन्द्रीय मंत्री राजनाथ सिंह ने सेवानिवृत्त शिक्षक डॉ.टीसी गोयल की इंद्रधनुष का दशम संस्करण सहित दो पुस्तकों का विमोचन किया, साथ ही पल्मोनरी मेडिसिन के विभागाध्यक्ष प्रो.सूर्यकांत की 14 वीं पुस्तक का विमोचन किया। इसके अलावा पीडियाट्रिक आर्थोपैडिक विभागाध्यक्ष प्रो.अजय सिंंह, प्रो.बानी गुप्ता, प्रो.सिद्धार्थ अग्रवाल व यूरोलॉजी पूर्व विभागाध्यक्ष डा. दिवाकर दलेला द्वारा लिखित पुस्तक का विमोचन किया।

अब PayTM के जरिए भी द एम्पल न्यूज़ की मदद कर सकते हैं. मोबाइल नंबर 9140014727 पर पेटीएम करें.
द एम्पल न्यूज़ डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000 > Rs 10000.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here