कृत्रिम बारिश वायु प्रदूषण का स्थायी समाधान नहीं : एक्सपर्ट

0
54

न्यूज। पर्यावरण विशेषज्ञों ने कहा है कि दिल्ली में वायु प्रदूषण को कम करने के लिए कृत्रिम बादलों के सहारे बारिश कराने से प्रदूषण से कुछ समय ही राहत मिल सकती है, लेकिन यह निदान केवल कुछ समय के लिए ही होगी । उन्होंने कहा कि सरकार को वायु प्रदूषण कम करने के लिए व्यवस्थित आैर समन्वित कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि वायु प्रदूषण के स्तर को कम करने के उपाय बिना समय गंवाए किए जाने चाहिए, लेकिन इस समस्या को हल करने के लिए दीर्घकालिक आैर केंद्रित दृष्टिकोण की भी आवश्यकता है।

सर्दियों के दौरान वायु प्रदूषण का स्तर अक्सर खतरनाक स्तर पर पहुंच जाता है। अधिकारियों का कहना है कि हवा में प्रदूषक कणों को साफ करने के वास्ते कृत्रिम बादलों से बारिश कराई जा सकती है। हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि वे ऐसा कब से करने जा रहे हैं। पर्यावरण विशेषज्ञों का कहना है कि नीति निर्माताओं को प्रदूषणकारी ईंधन पर ध्यान देना चाहिए आैर दिल्ली में वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए नियमों के सख्त कार्यान्वयन पर भी ध्यान केन्द्रित किया जाना चाहिए।

”कृत्रिम बादल से बारिश कराये जाने से वायु प्रदूषण से कुछ समय तक राहत मिल सकती है। लेकिन कितनी देर तक मिलेगी। यह प्रदूषण का स्थायी समाधान नहीं है। उन्होंने कहा कि यदि सरकार प्रदूषण के स्तर को कम करने आैर हवा को सांस लेने योग्य बनाने के प्रति गंभीर है तो प्रभावशाली प्रदूषण नियंत्रण तकनीकों को अपनाकर व्यवस्थित आैर समन्वित कार्रवाई करनी चाहिए।  विशेषज्ञों का कहना है” दिल्ली में प्रदूषण का गंभीर स्तर है आैर बिना समय गंवाए प्रदूषण के स्तर को कम करने के लिए कदम उठाये जाने चाहिए।””

अब PayTM के जरिए भी द एम्पल न्यूज़ की मदद कर सकते हैं. मोबाइल नंबर 9140014727 पर पेटीएम करें.
द एम्पल न्यूज़ डॉट कॉम को छोटी-सी सहयोग राशि देकर इसके संचालन में मदद करें: Rs 200 > Rs 500 > Rs 1000 > Rs 2000 > Rs 5000 > Rs 10000.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here